बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ

यत्र नार्यस्तु पूज्यंते रमंते तत्र देवता

महिला सशक्तिकरण बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ

भारत एक डेमोक्रेटिक देश है जिसमें सभी जाति ,धर्म ,सेक्स ,वर्ग के लोग साथ मिलजुल कर रहते हैं । भारत देश में औरतों को श्रेष्ठ माना गया है। अतः उनकी श्रेष्ठा को और निखारने के लिए भारत सरकार ने 22 जनवरी 2015 को बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान की शुरुआत की थी। सरकार का कहना है कि वे इस योजना के अंतर्गत नारी को अधिक से अधिक शिक्षित करेंगे साथ ही साथ उनको समाज में श्रेष्ठ का दर्जा भी दिलवाएंगे।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का उद्देश्य क्या है | बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना की जरूरत क्यों पड़ी?

Table of Contents

सालों साल देश की जनसंख्या ऐसी बढ़ रही है जैसे कि कोरोना वायरस का कहर। परंतु इसके पश्चात भी लड़की की संख्या लड़कों के मुकाबले बहुत ही कम है जो कि एक चिंता का विषय है। 2011 में हुई जनगणना के हिसाब से हर हजार लड़के पर मात्र 943 लड़कियां ही है। भारत सरकार के लिए एक बहुत बड़ा चिंता का विषय था। इसलिए महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का आयोजन किया एवं देश के माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का उद्घाटन 22 जनवरी 2015 को कर दिया।

योजना का मुख्य उद्देश्य

  • लड़कियों को शिक्षित करना ।
  • समाज में उनकी पहचान एवं महत्व बताना।
  • लड़कियों पर हो रहे जुल्म को रोकना ।
  • देश में लिंग अनुपात को मजबूत करना ।
  • मध्यम वर्ग के लड़कियों को सामाजिक एवं वित्तीय रूप से स्वतंत्र करना।
  • बेटियों को सही और गलत के बारे में जानकारी देना।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का फायदा क्या-क्या है?| Beti Bachao Beti Padhao 2020

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना भारत सरकार द्वारा 22 जनवरी 2015 को उद्घाटन किया गया था। इससे देश में मौजूद बेटियों को भारत सरकार निम्नलिखित फायदे पहुंचा रही है ;

  1. बेटियों को शिक्षित एवं उनकी स्थिति को मजबूत करने के लिए भारत सरकार उन्हें आर्थिक मदद दे रहे हैं ।
  2. मध्यम वर्ग के लड़कियों के लिए भारत सरकार उन्हें शादियों के लिए भी धनराशि मुहैया करवा रही है ।
  3. किस योजना के अंतर्गत देश में लड़के एवं लड़कियों के बीच का भेदभाव खत्म किया जा रहा है ।
  4. देश में लिंग अनुपात को मजबूत किया जा रहा है ।

सुकन्या समृद्धि योजना | बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना| Sukanya Samridhi Yozna 2020

भारत की बेटियों को शिक्षित एवं सामाजिक एवं वित्तीय रूप से स्वतंत्र करने के लिए भारत सरकार ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का आयोजन किया है । उनको आर्थिक रूप से मदद करने के लिए सुकन्या समृद्धि योजना को बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के अंतर्गत रखा गया है। इसका उद्देश्य है कन्याओं को भ्रूण हत्या से मुक्त एवं शिक्षित करना

सुकन्या समृद्धि योजना का फायदा कौन कौन उठा सकता है

इस योजना का फायदा उठाने के लिए कन्या को भारतीय होना चाहिए एवं आयु 10 वर्ष तक की होनी चाहिए।

सुकन्या समृद्धि योजना का लाभ कैसे उठाएं ? Beti bachao beti padhao scheme benefits

भारतीय बालिका जो कि 10 वर्ष से कम की हो वह किसी भी बैंक या फिर पोस्ट ऑफिस में अपना खाता खुलवा कर इस योजना का फायदा उठा सकते हैं ।

सुकन्या समृद्धि योजना का फायदा उठाने के लिए आवश्यक दस्तावेज कौन-कौन से हैं

  1. कन्या का जन्म प्रमाण पत्र की आवश्यकता पड़ेगी ।
  2. कन्या के मां-बाप का पहचान पत्र या फिर आधार कार्ड की भी आवश्यकता पड़ सकती है ।

सुकन्या समृद्धि योजना से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां

  • सर्वप्रथम सुकन्या समृद्धि योजना खाता ₹1000 से खुल जाएगा एवं यह धनराशि खाते में जमा हो जाएगा ।
  • इस खाते में प्रत्येक महीने हजार रुपए जमा करना होगा ।
  • प्रत्येक साल में 1.5 लाख रुपए से ज्यादा आप इस खाता में धनराशि जमा नहीं कर सकते हैं ।
  • सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खोले गए खाता की धनराशि पर भारत सरकार टैक्स नहीं काटती है।
  • इस योजना का मूल उद्देश्य है लड़कियों का भ्रूण हत्या को कम करना एवं लड़कियों को बोझ समझने वालों को जागृत करना ।
  • खाते में जमा की गई राशि को बालिका के 21 वर्ष पूरे हो जाने के बाद निकाला जा सकता है ।
  • खाते में से 50% धनराशि मां-बाप अपने बालिका के पढ़ाई के लिए निकाल सकते हैं ।

सुकन्या समृद्धि योजना को ऑनलाइन अप्लाई कैसे करें | Online Apply 2020 | Beti Bachao Beti Padhao 2020 Yozna | Apply yojna 2020|

भारत सरकार ने सुकन्या समृद्धि योजना को ऑनलाइन अप्लाई करने का कोई भी आधिकारिक वेबसाइट प्रदान नहीं किया है। अर्थात हम कह सकते हैं कि हम सुकन्या समृद्धि योजना को ऑनलाइन अप्लाई नहीं कर सकते हैं। इस योजना का फायदा उठाने के लिए हमें अपने नजदीकी किसी भी बैंक या फिर अपने पोस्ट ऑफिस पर जाकर सुकन्या समृद्धि योजना का खाता खुलवा कर उसके पश्चात हम इस योजना का फायदा उठा सकते हैं।

निष्कर्ष : | Beti Bachao beti padhao Yojana 2020

कहते हैं ना ; जहां स्त्री की इज्जत नहीं की जाती वहां लक्ष्मी नहीं आती। एवं स्वामी विवेकानंद जी ने भी कहा है कि जिस देश में नारी का मान सम्मान नहीं किया जाता उस देश की प्रगति कभी नहीं हो सकती ।अतः भारत सरकार यही सिद्धांत पर चलते हुए एवं नारी पर हो रहे दुष्कर्म एवं अत्याचार को रोकने के लिए भारत सरकार ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान का शुरुआत किया।

इस योजना के अंतर्गत उन्होंने नारी को शिक्षित करने के लिए आर्थिक रूप से मदद दी। एवं नारी को बोझ समझने वालों को जागृत किया। सिर्फ इतना ही नहीं उन्होंने नारियों को सामाजिक एवं वित्तीय रूप से भी स्वतंत्र किया साथ ही साथ उन्होंने लोगों को जागृत करते हुए यह भी समझाया कि लड़का और लड़की में उन्हें भेद भाव नहीं करनी चाहिए एवं इसका ही परिणाम है कि आज देश की वित्त मंत्री एक नारी है।

परंतु आज देश की स्थिति को देखते हुए यह समझ में आ गया है कि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना अब तक लोगों के समक्ष नहीं पहुंच पाई है । आज भी महिलाओं, नारी एवं छोटी बालिकाओं का रेप कर दिया जाता है। उस पर अत्याचार किया जाते हैं एवं शायद यही कारण है जिसके कारण से अब तक भारत विकासशील देश नहीं हो पाया है ।

अतः हमारी गुजारिश है भारत सरकार से कि वह नारियों पर हो रहे अत्याचार एवं दुष्कर्म को रोकने के लिए देश में सख्त से सख्त कानून व्यवस्था लाए ताकि किसी भी बेटी , नारी एवं बहन पर अत्याचार ना हो और वह खुल कर अपने जीवन को व्यतीत कर सकें।

तो क्या दोस्तों आप लोग भी चाहते हैं कि भारत सरकार नारियों पर हो रहे दुष्कर्म के लिए सख्त से सख्त कानून व्यवस्था लाए ? अपनी राय नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं

Leave a Comment

error: Content is protected !!