आत्मनिर्भर भारत का तात्पर्य है “स्वयं पर निर्भर भारत” होना। इसका उद्देश्य होता है, घरेलू उत्पादनों को सराहना , उनका उपयोग करना एवं देश की आर्थिक स्थिति को मजबूत करना ।

भारत में अधिक मात्रा में अन्य देशों की वस्तुएं खरीदी जाती है।चाहे बात की जाए मोबाइल फोन की या फिर कपड़े, बर्तने ,गहने इत्यादि की, लोग भारत की वस्तुएं खरीदते ही नहीं है। इसका मुख्य कारण है लोगों की सोच , उन्हें खुद की चीज पसंद ही नहीं आती।लोग चाहते हैं कि उन्हें चीप एंड बेस्ट समान मिले परंतु भारत में उपयुक्त चीजों की बचट लोगों की वजट से ज्यादा है जिसके कारण से लोग खुद की देशों की वस्तुएं नहीं खरीद पाते हैं।

आत्मनिर्भर भारत अभियान | Aatmnirbhar bharat

भारत सरकार चाहती है कि देश आत्मनिर्भर बने ताकि देश की उन्नति हो एवं आर्थिक स्थिति सुधरे। आत्मनिर्भर भारत बनाने के लिए पीएम इसको एक मिशन की तरह बता रहे हैं एवं जोरों शोरों के साथ काम कर रहे हैं। वे मंत्रियों के साथ बैठक करके योजनाओं की जानकारी लेते हैं एवं साथ ही साथ आत्मनिर्भर भारत अभियान को सफल बनाने के लिए सुझाव भी मांगते हैं। आत्मनिर्भर भारत

आयुष्मान भारत योजना । रजिस्ट्रेशन कैसे करें |

भारत-चीन सीमा विवाद से ही भारत और चीन के संबंध खराब हो चुका है। चीन को सबक सिखाने के लिए पिछले महीने ही 59 चाइनीज ऐप्स को बैन कर दिया था, इससे चीन का रोज का करोड़ों रुपए का नुकसान भुगतना पड़ रहा है। इसके साथ ही भारत ने 4G अपग्रेडेशन से भी चीनी कंपनी को बाहर कर दिया है। सरकार चाहते हैं कि इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों पर चीन पर निर्भरता कम ही हो।कहा जा रहा है कि हाइवे निर्माण में भी चीनी कंपनियों पर रोक लगाई जा सकती है ।27 July ,सोमवार को भारत सरकार ने 47 चाइनीज ऐप्स को फिर से बैन कर दिया है ।

Leave a Comment

close
error: Content is protected !!